Online Education Essay in Hindi – कोरोना महामारी के दौरान जब भारत में लॉक डाउन लगा तब ऑनलाइन शिक्षा का प्रचलन बढ़ गया, स्कूलों की परीक्षाओं तथा कक्षाओं को ऑनलाइन के माध्यम से लिया जाने लगा। ऑनलाइन अध्ययन का प्रचलन भारत में तेजी से बढ़ने लगा, बच्चे घंटो घंटो तक ऑनलाइन के माध्यम से अपनी क्लास को पूर्ण करते। अध्यापक ऑनलाइन के माध्यम से ही सभी प्रश्नों का उत्तर अपने छात्रों को देते।

मगर इन दौरान ऑनलाइन अध्ययन के फायदे देखे गए और साथ ही इसके नुकसान भी बच्चों में पाए गए। ऑनलाइन अध्ययन के माध्यम से बच्चों की शिक्षा तीव्र गति से बढ़ने लगी, लॉकडाउन की वजह से जो शिक्षा पर प्रभाव पड़ा था उसकी भरपाई के लिए ऑनलाइन अध्ययन को बढ़ावा दिया गया।

Online Education Essay in Hindi

Online Education Essay in Hindi – ऑनलाइन अध्ययन क्या है?

इंटरनेट के मदद से मिलने वाली शिक्षा और सिख ऑनलाइन अध्ययन कहलाती है, जब छात्र इंटरनेट के माध्यम से किसी भी प्रकार की ज्ञान प्राप्त करता है तो उसे ऑनलाइन अध्ययन कहते हैं। इसमें मुख्य रूप से गूगल का तथा यूट्यूब का इस्तेमाल किया जाता है जबकि किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न का उत्तर चाहिए होता है। साथ ही जब शिक्षक कक्षा लेते हैं तो उस वक्त गूगल मीट, जूम का इस्तेमाल करते हैं। ऑनलाइन के माध्यम से शिक्षा प्रणाली आसान हो जाती है, कोई छात्र कहीं से भी ज्ञान को प्राप्त कर सकता है।

ऑनलाइन अध्ययन के नुकसान क्या है?

ऑनलाइन अध्ययन करना छात्रों के लिए लाभदायक है, ऑनलाइन के माध्यम से किसी भी प्रकार की जानकारी आसानी से प्राप्त की जा सकती है, छात्रों को पढ़ने में विभिन्न प्रकार से मदद मिलती है, मगर ऑनलाइन अध्ययन के कई सारे नुकसान भी हैं।

खुद पर नियंत्रण

ऑनलाइन अध्ययन छात्र के व्यक्तित्व तथा आचरण पर निर्भर करता है। छात्र के ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया सफल हुई कि नहीं यह उसके उत्सुकता पर तथा आचरण पर निर्भर करता है। ऑनलाइन अध्ययन के वक्त छात्र को अध्यापक देख नहीं सकते इस वजह से छात्र को पूर्ण रूप से स्वतंत्रता मिलती है कुछ भी सीखने के लिए, छात्र अपने मन को एकत्रित कर कर कितना सीखता है यह सिर्फ छात्र पर निर्भर करता है।

ईमानदारी पर निर्भर

ऑनलाइन अध्ययन करने पर छात्रों में ईमानदारी की कमी देखी जाती है, ऑनलाइन अध्ययन करते वक्त छात्र का पूरा ध्यान कक्षा में होना चाहिए, ऑनलाइन अध्ययन करते वक्त छात्र कितनी ईमानदारी से अपनी उपस्थिति कक्षा में दर्ज करता है यह पूर्ण रूप से छात्र पर निर्भर करता है। जब भी है ऑनलाइन के माध्यम से कक्षा ली जाती है तो अध्यापक पूर्ण रूप से सभी बच्चों पर ध्यान नहीं दे पाते, इस वजह से छात्रों को ही पूर्ण रूप से अपनी ईमानदारी साबित करने की जरूरत है।

सिर्फ कोर्स संबंधित बातें

वर्णन कक्षा के दौरान उन विषय पर चर्चा होती है जिस पर चर्चा होना आवश्यक है, आम कक्षा के दौरान अध्यापक अपने तजुर्बे तथा अपने अंदाज में शिक्षा प्रदान करता है जिस वजह से कक्षा में बने रहने की रूचि बढ़ जाती है। मगर ऑनलाइन कक्षा के माध्यम मैं इसकी कमी देखने को मिलती है, शिक्षक सिर्फ उन्हीं बातों पर चर्चा करते हैं जो विषय से जुड़े होते हैं इस वजह से छात्र में पढ़ने की रुचि कम होने लगती है।

ओवर एक्सपोजर टू स्क्रीन

ऑनलाइन अध्ययन में छात्रों को लगातार दो-तीन घंटे इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन गैजेट का इस्तेमाल करना पड़ता है, घंटों स्क्रीन पर देखने की वजह से छात्रों के सिर में तथा आंखों में दर्द और समस्याएं देखने को मिलती है। ऑनलाइन अध्ययन की वजह से बच्चों में तथा शिक्षकों में शारीरिक समस्याएं देखने को मिलती है, इसके अलावा मस्तिष्क पर भी प्रभाव पड़ता है।

सीमित बातचीत

ऑनलाइन अध्ययन में छात्र तथा शिक्षक के बीच काफी कम बातचीत होती है, शिक्षक सिर्फ विषय पर टिप्पणी करता है। इस वजह से छात्र और अध्यापक के बीच सीमित बातचीत होती है, अगर किसी छात्र को किसी विषय को समझने में परेशानी आ रही है तो वह शिक्षक से पूछ सकता है लेकिन, ऑनलाइन कक्षा में छात्रों के सभी सवालों के उत्तर दे पाना मुमकिन नहीं होता, इसके कई सारे कारण है, कभी-कभी इंटरनेट की समस्याएं आ जाती है और कभी कभी टेक्निकल डिफॉल्ट के कारण बातचीत में समस्याएं देखी जाती है।

ऑनलाइन अध्ययन के लाभ क्या है?

ऑनलाइन अध्ययन के कई सारे फायदे हैं जो छात्रों तथा अध्यापकों को मिलते हैं।

सुविधाजनक

ऑनलाइन अध्याय के द्वारा अध्यापक तथा छात्रों को कई तरह की सुविधा प्राप्त होती है, अध्यापक तथा पात्र अपने घर से बाहर निकले बिना ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं, छात्र को बढ़ाया जा सकता है। छात्र तथा शिक्षक को जुड़ने के लिए इंटरनेट तथा एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जरूरत पड़ती है। छात्र तथा शिक्षक अपने घर के किसी भी एक कोने में बैठ कर ऑनलाइन के माध्यम से पढ़ा जा सकता है और पढ़ाया जा सकता है।

सस्ता

ऑनलाइन अध्ययन स्कूली शिक्षा प्रणाली से कई गुना सस्ती है, ऑनलाइन के माध्यम से छात्र तथा शिक्षक को घर से जाने की जरूरत नहीं पड़ती इस वजह से ट्रांसपोर्ट का खर्च बच जाता है, साथ ही दूसरी फिजूल के खर्चे भी बजाते हैं। कई सारे पुस्तकें सॉफ्ट कॉपी में ऑनलाइन में उपलब्ध होते हैं जोकीहाट कॉपी के मुकाबले काफी कम मूल्य पर मिल जाते हैं। छात्र तथा अध्यापक अपनी जरूरत के अनुसार किसी भी शिक्षक को डाउनलोड कर सकते हैं और किसी भी ज्ञान को प्राप्त कर सकते हैं।

इंटरनेट का इस्तेमाल कर के किसी भी प्रकार की जानकारी कुछ ही पलों में पाई जा सकती है, इसी वजह से ऑनलाइन अध्ययन स्कूली शिक्षा प्रणाली से कई गुना ज्यादा सस्ती और फायदेमंद है।

सुरक्षित

ऑनलाइन अध्ययन के माध्यम से छात्र तथा शिक्षक दोनों ही सुरक्षित रहते हैं, घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं पड़ती इस वजह से किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं होता। कोरोना महामारी के दौरान ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से शिक्षक तथा छात्र दोनों ही सुरक्षित रहे, और साथ ही अपनी शिक्षा पूर्ण कर पाए।

लचीलापन

इसमें जबरदस्त लचीलापन देखने को मिलता है, जैसे कि स्कूल तथा विश्वविद्यालय से ऑनलाइन सर्टिफिकेट छात्रों को प्रदान किया जाता है, और साथ ही पंजीकरण से लेकर परीक्षा तक के सभी विधि ऑनलाइन के माध्यम से ही लिए जाते हैं। अगर छात्र किसी वजह से देर हो जाता है क्लास में जुड़ने से तो इसमें किसी भी प्रकार का कोई बाधा नहीं आता, छात्र को आसानी से क्लास में प्रवेश मिल जाता है साथ ही ऑनलाइन क्लासेस रिकॉर्ड होती है जिसकी वजह से छात्र जब चाहे अपनी कक्षा को देख सकता है और समझ सकता है।

कम पेपर का इस्तेमाल

ऑनलाइन अध्ययन में कम से कम कागजों का इस्तेमाल किया जाता है, ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली में डिजिटली सभी कार्य किए जाते हैं, बच्चों को सभी नोट वीडियो कथा पीडीएफ के रूप में दिया जाता है जिस वजह से बच्चों को पेपर का कम से कम इस्तेमाल करना पड़ता है। साथ ही ऑनलाइन स्टडी टेस्ट के कारण पेपर का अधिक इस्तेमाल नहीं होता।

कम संकोच

क्लासरूम की एनवायरनमेंट से अलग ऑनलाइन अध्ययन होता है, इसमें शिक्षक तथा छात्र के बीच अधिक तालमेल देखा जाता है, क्लास रूम में बच्चे आमतौर पर ज्यादा व्याकुल रहते हैं इस वजह से उनका ध्यान शिक्षा पर कम रहता है मगर ऑनलाइन कक्षा में संभवता रूप से बच्चे अधिक ध्यान से कक्षा में उपस्थित रहते हैं। छात्र काफी संवेदनशील होने लगते हैं इस वजह से वह अपने सभी प्रश्नों को अपने शिक्षक के समक्ष प्रकट करते हैं और जवाब पाते हैं।

Conclusion

ऑनलाइन शिक्षा एक अच्छा माध्यम है, इसकी सहायता से किसी भी प्रकार की जानकारी कुछ ही पलों में हुए भी व्यक्ति पा सकता है, यूट्यूब तथा गूगल के माध्यम से हर तरह के सवालों का जवाब स्पष्ट रूप से मिल जाता है। ऑनलाइन शिक्षा के कई सारे लाभ है और साथ ही इसके कई सारे दुष्परिणाम भी देखने को मिलते हैं। मगर यह पूर्ण रूप से व्यक्ति पर निर्भर करता है की वह इंटरनेट का किस प्रकार उपयोग करता है।

Read more –

Online education essay in EnglishMoney essay in Hindi
Youth essay in HindiBank essay in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Post