My Pet Animal Essay in Hindi (मेरा पालतू जानवर पर निबंध)

My Pet Animal Essay in Hindi – पूरी दुनिया में लाखों लोग है जो पशु पालना पसंद करते हैं, वैसे तो कुत्ते तथा बलिया लोगों को अधिक पसंद आते हैं मगर कुछ लोग इस से हटकर खरगोश, कछुए, घोड़े, बंदर, भी पालना पसंद करते हैं। पालतू जानवर पालने के कई सारे लाभ व्यक्ति को मिलते हैं, जो भी व्यक्ति जानवर पालता है वह उस व्यक्ति को जो जानवर नहीं पालता उसे जानवर पालने की सलाह जरूर देता है।

देखा गया है कि कुछ लोग जानवर से पालते हैं ताकि वह सुरक्षित रह सकें, क्योंकि कई सारे ऐसे जानवर है जो अपने मालिक की सुरक्षा के लिए अपनी जान तक दे सकते हैं। मगर जानवर पालने का उद्देश्य जो भी हो जानवर पालने से व्यक्ति के व्यक्तित्व में तथा शारीरिक स्वास्थ्य में परिवर्तन देखने को मिलता है।

जानवरों को पालने से इंसान तनाव मुक्त रहता है, एक सच्ची मित्रता और प्यार महसूस करता है। जो भी व्यक्ति जानवर पालते हैं वह किसी ना किसी वजह से अधिक सुरक्षित रहते हैं। अपने पाले के पशु के व्यक्ति तरह-तरह के नामों से पुकारता है, इससे व्यक्ति और पशु के बीच प्यार बढ़ता है।

My Pet Animal Essay in Hindi

कैसे मैंने अपने परिवार को जानवर रखने के लिए मनाया।

जब मैं 6 साल का था तब मैंने पहली बार एक व्यक्ति को कुत्ते के साथ घूमते हुए देखा, मुझे उन दोनों का साथ देख कर बहुत खुशी हुई, मैंने जब यह बात अपने परिवार का के सदस्यों को बताया तो उन्हें यह बात थोड़ी अजीब लगी, मैंने अपने माता-पिता से एक कुत्ता पालने के लिए कहा, पहले तो उन्होंने मेरी इस इच्छा को हंस कर टाल दिया।

पर कुछ दिनों में मैंने उन्हें कुत्ता पालने के लिए राजी कर लिया, उन्हें भरोसा दिलाया कि मैं कुत्ते का ख्याल अच्छे से रख सकता हूं, और उसकी वजह से किसी को भी किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। इसके बाद मेरे माता-पिता ने मुझे एक कुत्ता पालने की इजाजत दे दी। कुछ दिनों बाद मैं एक कुत्ते का छोटा बच्चा अपने साथ घर ले आया, धीरे-धीरे पूरे परिवार को उस छोटे से कुत्ते के बच्चे से प्यार हो गया। आज भी वह कुत्ता हमारे साथ है और हमारे दिल में है।

My Pet Animal Essay in Hindi – मेरा पालतू पशु बूनू (कुत्ता)

जब मैं 6 साल का था तब से बूनू मेरे साथ रहता है, हम दोनों साथ खेलते हैं, साथ घूमते हैं और साथ ही सोते हैं। जब भी मैं बूनू के साथ होता हूं तुम्हें सब कुछ भूल जाता हूं। मुझे उसका साथ और उसे मेरा साथ बेहद पसंद है। हम दोनों सच्चे मित्र हैं, कभी-कभी बूनू मेरी सुरक्षा करता है, मुझे हर खतरे से बचाने की कोशिश करता है।

जब भी मैं बूनू के साथ होता हूं तुम मुझे लगता है मुझे किसी और की कोई जरूरत नहीं, उसके साथ खेलने से और रहने से मेरे सारे दुखों का निवारण हो जाता है। अक्सर हम दोनों घूमने के लिए सुबह सुबह घर से निकल जाते हैं और घंटों घूमने के बाद वापस आ जाते हैं।

एक बार की बात है मैं और बूनू घूमने बाजार गए, वहां एक इंसान मेरे साथ गलत व्यवहार कर रहा था, ऐसे में बूनू ने उसे खूब डराया, बूनू की वजह से वह इंसान भाग निकला, हम दोनों एक दूसरे की सुरक्षा करते हैं। शायद इसी वजह से हम दोनों को एक दूसरे के साथ है हमें इतना पसंद है।

बूनू को खाने में सबसे ज्यादा पेडिग्री पसंद है, मैं अक्सर उसके लिए पेडिग्री बाजार से लेकर आता हूं। और हम दोनों साथ बैठकर ही भोजन करते हैं।

India Essay in HindiCricket Essay in Hindi
Sports Essay in HindiDog Essay in Hindi

मेरा पालतू पशु खरगोश

पूरी दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं जिसे खरगोश से प्रेम ना हो, खरगोश की मासूमियत और सुंदरता देखकर कोई भी व्यक्ति उसके प्रति खींचा चला जाता है, उसके उछल कूद और उसकी हरकतें देखकर प्रत्येक व्यक्ति को आनंदित महसूस होता है। इन्हें अधिक देखभाल की जरूरत पड़ती है, और साथ ही यह बेहद अच्छे स्वभाव के होते हैं।

मैंने जब खरगोश को देखा तो मुझे इसकी सुंदरता और मासूमियत बेहद पसंद है, खरगोश को देखने के बाद मैंने इसे पालने की इच्छा रखी, मैं अपने घर एक छोटा सा खरगोश का बच्चा लिया है। कहा जाता है कि अगर खरगोश को किसी व्यक्ति का साथ मिले और उसकी अच्छी तरह से देखभाल की जाए तो उसकी आयु लंबी हो जाती है।

My Pet Animal Essay in Hindi

मैंने एक सफेद रंग का खरगोश अपने घर ले आया, मुझे देखकर मेरे परिवार के सभी सदस्य बड़े खुश हुए, उसके साथ खेलना उसके साथ समय बिताना सभी को बेहद पसंद था। पहले तो मेरे परिवार वालों ने खरगोश को पालने से इंकार कर दिया, मगर धीरे-धीरे वह सभी खरगोश की ओर खींचे चले गए, आप परिवार के सभी व्यक्ति उस से प्रेम करते हैं।

हम खरगोश को हर रोज नहलाते है, उसकी साफ-सफाई का अक्सर ध्यान रखा जाता है, उसके दांतों की सफाई तीन-चार दिनों में एक बार की जाती है, इसके अलावा उसके बालों को संवारने के लिए अलग से एक कंघा भी रखा गया है। साफ होने के बाद परिवार के सभी सदस्यों के साथ खेलती है। बालों को काटना, तथा उसे रोज नहलाने का काम मेरी मां करती है।

उसके खाने-पीने का इंतजाम परिवार के सभी सदस्य करते हैं, खासकर कर उसे खाने में गाजर पसंद है इसके अलावा घास, तुलसी, और हरी सब्जियां भी पसंद है। हर रोज उसे हरी सब्जियां खिलाते हैं ताकि वह स्वस्थ और तंदुरुस्त रहें। खाना खाने के बाद वह पूरे घर में घूमती और दौड़ती है। यह दृश्य देखकर परिवार के सभी सदस्य बेहद खुश हो जाते हैं।

Elephant Essay in HindiCow Essay in Hindi
Newspaper Essay in HindiMy School Essay in Hindi

मेरा पालतू पशु कछुआ

मुझे हमेशा से ही कछुआ पालने का शौक है, इसी वजह से मेरे घर में प्यारा सा कछुआ है जिसका नाम मोनिका है, मुझे कछुआ पालना इसलिए पसंद है क्योंकि वह दूसरे अन्य पशुओं की तरह गंदगी नहीं फैलाते हैं। जब मैं पहली बार मोनिका को अपने घर लेकर आया तब मुझे नहीं पता था कि मुझे उसकी देखभाल कैसे करनी है, मुझे नहीं पता था कि उसे खाने में क्या पसंद है।

इस वजह से मैंने इंटरनेट पर कछुए के बारे में सब कुछ पढ़ा, फिर मुझे धीरे-धीरे सब कुछ पता चल गया। मेरे परिवार के सभी सदस्य मोनिका से बेहद प्रेम करते हैं, उसकी देखभाल और सुरक्षा प्रत्येक परिवार के सदस्य की जिम्मेदारी है। मोनिका के व्यवहार परिवार के सभी सदस्य को बेहद पसंद आते हैं, परिवार के सभी सदस्य उसके साथ रहना, उसके साथ खेलना बेहद पसंद करते हैं।

My Pet Animal Essay in Hindi

मुझे लगता है मोनिका को हमारे साथ रहने की आदत हो गई है, देखो पहली बार हमारे साथ रहने आई थी तब उसे देखकर लगता था कि वह थोड़ी डरी हुई है, मगर अब वह किसी के भी पास आसानी से चली जाती है।

मोनिका को रखने के लिए हमने अलग से एक कमरा बनाया है जिसमें पौधे तथा पत्थर रखे हुए हैं, हमने मोनिका के आराम की सारी सुविधा का ध्यान रखा है। हम सुनिश्चित करते हैं कि हर रोज उसके कमरे की सफाई की जाए, उसे ताजा हवा ताजा खाना रोज दिया जाता है, साथ ही उसके घूमने-फिरने का भी ध्यान रखा जाता है।

किसी अनजान व्यक्ति के आने से मोनिका घर के किसी कोने में छिप जाती है और तब तक नहीं निकलती जब तक मेहमान चला ना जाए। हर तरह की सुख सुविधा मोनिका को परिवार के सभी सदस्य प्रदान करते हैं। ताजा हवा, ताजा खाना, सूरज की रोशनी, पानी की सफाई, नए पौधे, का ध्यान रखा जाता है।

My Dream Essay in HindiEducation Essay in Hindi
Holiday Essay in HindiMy Pet Essay

Conclusion

प्रत्येक व्यक्ति को पशु जरूर पालना चाहिए, पशु पालने से व्यक्ति के व्यक्तित्व में निखार आता है, शारीरिक स्वास्थ्य अच्छी होती है, इसके अलावा मानसिक तनाव भी कम होता है। जो भी व्यक्ति पशु पालते हैं वह अच्छे से समझते होंगे कि पशु पालने के लाभ क्या है। आज के समय प्रत्येक पशु को प्रेम की जरूरत है, उसे देखभाल की जरूरत है इस वजह से जानवरों को अपनाना चाहिए उसकी देखभाल करनी चाहिए।

पशु को पालने से इंसान को एक सच्चा मित्र मिलता है जो सदैव ही उसके साथ हर परिस्थिति में रहता है, इसी वजह से प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन काल में एक बार पशु अवश्य पालना चाहिए।

oosoo
oosoo.co.in एक हिन्दी एजुकेशनल वेबसाईट है, इसके फाउन्डर और इसपे आर्टिकल बिकाश शाह लिखते है। बिकाश शाह एक ब्लॉगर है जो पिछले 3 सालों से इंटरनेट पर आर्टिकल लिखते आ रहे है। अभी ये अरुणाचल प्रदेश मे रहते है, साथ ही ये यूट्यूब पर विडिओ भी बनाना पसंद करते है। अगर आपको इसके बारे मे अधिक जानकारी चाहिए तो आप इनसे कान्टैक्ट कर सकते है। सोशल मीडिया का लिंक आपको about मे मिल जाएगा। इस वेबसाईट के आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका सुक्रिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *